Aftab e Ashraf 2


बरे सगीर हिन्दोपाक में जो ख़ानदान हुजूर गास आज़म दस्तिगीर शैख सैय्यद अब्दुल कादिर जीलानी रहमतउल्लाह अलैह का | आबाद है उन्हीं में से एक शाख सरज़मीने किछौछा ज़िला फ़ैज़ाबाद में | | अर्से दराज़ से शादो आबाद था कि जिनके जद्दे आला हज़रत सैय्यद | | अब्दुल रज्जाक नूरुलऐन रहमतउल्लाह अलैह हैं जिन्हें जानशीनो खलीफ़ा हज़रत मखदूम सैय्यद अशरफ़ जहाँगीर किछौछवी अलैह से दुनिया जानती है !

(1) हज़रत सैय्यद हसन (2) हज़रत सैय्यद हुसैन (3) हज़रत सैय्यद शम्सउद्दीन (4) हज़रत सैय्यद फ़रीद (5) हज़रत सैय्यद अहमद

हज़रत सैय्यद अहमद- आप हज़रत अब्दुल रज़्ज़ाक़ नूरुलऐन के सबसे छोटे शहज़ादे हैं! आपकी विलादत सरज़मीने किछौछा में हुई और तालीमो तरबियत अपने वालिद बुजुर्गवार के ही दामने रहमत में पाई! फ़िर वालिद माजिद से बैतो ख़लाफत हासिल कर के सरज़मींने किछौछा से सरज़मींने जायस चले आयें जहाँ एक ख़ानक़ाह कायम कर के मसनदे रुश्दो इरशाद जमा दी कि जिसपर बैठ कर अपने नूर ज़ाहिरो बातिन से एक आलम को मुनव्वर फ़रमाया! आपका विसाल जायस में ही हुआ और अपनी ख़ानक़ाह मे
सुपुर्दे खाक हुएं! आपके सिलसिलए औलाद में हज़रत सैय्यद मुबारक बोदले
रहमतउल्लाह हज़रत सैय्यद अब्दुल रज्जाक़ नूरुलऐन रहमतउल्लाह अलैह के पाँच साहबजादे थें ।

तर्जुमा : हज़रत सैय्यद अशरफ़ जहाँगीर रहमतुल्लाह अलैह के घराने में अनमोल रतन पैदा हुएं जिनका नाम सैय्यद हाजी था और जो तमाम आला औसाफ़ से आरास्ता थें! दुनिया के हिदायत के लिए सैय्यद हाजी के घर दो चिराग़ पैदा हुएं एक शैन मुबारक जो चाँद के तरह चमक रहें हैं और दूसरे शैख़ कमाल जो तमाम दुनिया में सब से ज़्यादा रौशन हैं! दोनों अपनी जगह क़ुतुब तारे की तरह कायम हैं! अल्लाह ने इन्हें सूरत और सीरत दोनों के हुस्न से नवाज़ा है! ये दोनों हस्तियां दो सुतून की तरह हैं जिन पर दुनिया क़ायम है! जिसने एक बार इनका दीदार किया या क़दम बोसी किया उसके गुनाह धुल गये! जिसे ऐसी नाव मिल जाए वोह गुनाहों के समुन्द्र को आसानी से पार कर लेता है। और इन्हीं हज़रत सैय्यद मुबारक बोदले रहमतुल्लाह अलैह के तेरहवीं पुश्त में हज़रत सैय्यद जलाल अशरफ रहमतुल्लाह अलैह पैदा हुएं जो एक मादरज़ाद वली मजजूब थें! आपका शजराए नसब वालिद के तरफ से इस तरह बयान होता है।

हज़रत सैय्यद जलाल अशरफ रहमतउल्लाह अलैह – इब्न हज़रत सैय्यद हुजूर अशरफ रहमतउल्लाह अलैह-इब्न हज़रत सैय्यद मुहम्मद अशरफ रहमतउल्लाह अलैह -इब्न हज़रत सैय्यद तजम्मल हुसैन अशरफ रहमतउल्लाह अलैह -इब्न
इब्न हज़रत सैय्यद नूर अशरफ रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद मुहम्मद अशरफ रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद लाल अशरफ रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद लाड अशरफ रहमतउल्लाह अलैह-इब्न हज़रत सैय्यद मुहम्मद वफ़ा अशरफ रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद बक़ा अशरफ रहमंतउल्लाह अलैह- इब्न
हजरत सैय्यद अबुल क़ासिम अशरफ रहमतउल्लाह अलैह -इब्न
हज़रत सैय्यद लुत्फ़ अशरफ रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद जलाल सानी अशरफ रहमतउल्लाह अलैह-इब्न हज़रत सैय्यद शाह मुबारक बोदले रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद शाह जलाल अव्वल रहमतउल्लाह अलैह- इब्न हज़रत सैय्यद शाह हाजी क़त्ताल रहमतउल्लाह अलैह- इब्न
हज़रत सैय्यद शाह हाजी अहमद अशरफ जायसी रहमतउल्लाह अलैह-इब्न
हज़रत सैय्यद शाह अब्दुल रज़्ज़ाक नुरुल ऐन रहमतुल्लाह अलैह (ख़लीफ़ा व जानशीन हज़रत मख़दूम सैय्यद अशरफ़ जहांगीर किछौछवी रहमतउल्लाह अलैह)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s