Farman e Maula Ali AlaihisSalam


*…….(بِسْمِ ٱللَّٰهِ ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ)…….*

*Imam Ali ibn Abi Talib (عليه السلام)*

farzand e adam (a.s) jab gunaho’n ke bawajood parwardigar ki naimat musalsal tujhe milti rahain to hoshiyaar ho jana…..


(Gorar ul Hikam p139)
(Nehjul-blagha 25 p635)

हदीस::मैं और अली एक नूर थे

मैं और अली एक नूर थे

हज़रत सलमान फ़ारसी रदिअल्लाहो अन्हो से मरवी है के हुजूर नबी ए अकरम सल्लल्लाहो अलैहे व आलिही व सल्लम ने फरमाया : आदम अलैहिस्सलाम की तख़लीक़ से 14000 साल पहले अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त के यहां मैं और अली एक नूर थे थे जब अल्लाह ने आदम अलैहिस्सलाम को तख़लीक़ फ़रमाया तो उस नूर को दो हिस्सों में तक़सीम फ़रमा दिया (उस नूर का) एक हिस्सा मैं हूँ और (उस नूर का) दूसरा हिस्सा अली है

हवाला: फ़ज़ाइल ए सहाबा इमाम अहमद इब्ने हंबल 2/662#1130 मनाक़िब ए अली -इमाम मग़अज़ली 1/142#130 तारीख़ ए दमिश्क़-इमाम इब्ने असाकिर 67/42 रियाज़ उन नज़रा इमाम मुहिबुद्दीन तबरी 3/120