Biography of Ghouse-Azam in english

Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_1Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_2Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_3Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_4Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_5Hazrat-Ghouse-Azam-Sheikh-Syed-Abdul-Qadir-Jilani-R.A_Page_6

Advertisements

Ahel e Bait Panjatan

Mola e Kaynat Mola Imam Ali (Alaihi Salam) Farmate Hai:-Aaqa (Alaihi Salam) Ne Mujhe Bataya Ki Sabse Pehle Jannat Me Dakhil Hone Walo Me *(Me (Yani Mola Ali),Syyeda Fatima,Hasan Aur Hussain)* Hai,
*Mene Arz Ki Ya Rasool Allah (SALLALLAHU-TA’AALA-ALAIHI-WASALLAM) Hum Se Muhabbat Karne Wale Kha Honge ?*
*Aaqa (Alaihi Salam) Ne Farmaya:-“Tumhare Peeche Peeche*
📚Reference📚
(Hakim Al Mustadrak,Jild-3,Safa-164,Raqam-4723)

मोहब्बते अहलेबैत ये मोहब्बत बड़े सख़्त इम्तेहान लेती है

अहलेबैत की मोहब्बत में 👇

इमाम निसाई को मिम्बर पर शहीद किया गया, इमाम बुख़ारी के जनाज़े पे कोई नही आया, इमाम हाकिम पर कुफ़्र का फ़तवा दिया गया, इमामे आज़म अबु हनीफ़ा को ज़हेर दे कर शहीद किया गया इमाम मालिक के हाथ उखाड़े गए, इमाम अहमद इब्ने हम्बल को शहर से बाहर कर दिया गया, इमाम शाफ़ई को इस क़दर परेशान किया कि मक्का छोड़ कर मिस्र चले गए और इन हज़रात पर शियत का फ़तवा दिया गया तोहमतों इल्ज़ामों ज़ुल्मों सितम की इन्तेहा कर दी गई
जिसके जवाब में इमाम शाफ़ई ने फ़रमाया,
हुज़ूर की अहलेबैत की मोहब्बत अगर शियत है तो मैं शिया हूं।