अहलेबैत ए अतहार के दुश्मन पर जन्नत हराम है

” अहलेबैत ए अतहार के दुश्मन पर जन्नत हराम है ”

हुज़ूर नबी ए अकरम صلی اللہ علیہ وآلہ وسلم ने फ़रमाया

अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त ने जन्नत को हराम क़रार दे दिया है उस पर जो मेरे अहलेबैत पर ज़ुल्म करे, उन से जंग करे, उन पर हमला करे या उन्हें गालियां दे

हवाला :-
यनाबि अल मुवद्दा 2 /119/344
तफ़्सीर ए क़ुरतबी 16 सफ़ह 22
कश्शाफ़ 3 सफ़ह 402