ईद मीलादुन्नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम पर किये गए सवालात और उनके जवाबात सवाल part 4

सवाल 8:- हुजूरे अकदस सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की पैदाइश का दिन 12 रबीउल अव्वल नहीं है बल्कि 9 रबीउल अव्वल है। लिहाज़ा इस दिन क्यों खुशी नहीं मनाते हैं?

जवाब 8:- हुजूर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की पैदाइश की तारीख़ के मुतअल्लिक मुअरिंखीन (historians) की राय मुख्तलिफ़ है, मगर जिस तारीख पर हदीस के बहुत से इमामों और ओलमा-ए-केराम ने इत्तिफाक किया, वो बारह रबीउल अव्वल है। हवाले पेशे खिदमत हैं:

1- हाफ़िज़ इब्ने कसीर (774 हिजरी) फ़रमाते हैं: “इब्ने अब्बास रदियल्लाहु अन्हु इरशाद फ़रमाते हैं कि रसूलुल्लाह

सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की विलादत आमे फील’, पीर के दिन, माह रबीउल अव्वल की 12 तारीख को हुई।” (अल-बिदाया वन्निहाया, हिस्साः 2, पेजः 282) इसके अलावाः

2- सीरतुन्नबीः इब्ने कसीर, हिस्साः 1, पेजः 143, मतबूआः हाफ़िजी बुक डिपो, देवबन्द 3- सीरतुन्नबीः इब्ने हशाम, हिस्साः 1, पेजः 182, मतबूआः एतिकाद पब्लिकेशंज़ हाउस (नई देहली) 4- मदारिजुन्नुबुव्वा, हिस्साः 2, पेजः 23, मतबूआः अदबी ,

दुनिया (नई देहली) 5- तारीखे इब्ने खुलदून, हिस्साः 1, पेजः 32, मतबूआः मक्तबा फारान, देवबन्द दलाइलुन्नुबुव्वा, हिस्साः 1, पेजः 95 वगैरा वगैरा ।

6- शअबुल ईमान, हिस्साः 2, पेजः 148, मतबूआः इदारा इशाअते इस्लाम, देवबन्द

7- ज़िक्र की गई किताबों में और दूसरी कई किताबों में यही लिखा है कि आका सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की विलादत पीर के दिन बारह रबीउल अव्वल को हुई। नोट: अगर मुखालिफ़ीन अब भी ज़िद पर हैं कि विलादत 9 रबीउल अव्वल को हुई तो हम कहते हैं आप 9 तारीख को ही ईद मीलादुन्नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम मनाएँ, हमें कोई एतराज़ नहीं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s