हदीस कौन गुमराह नहीं होगा

हज्जतुल विदा में यौमे अर्फा के दिन नबी ए करीम ﷺ ने हजारों सहाबा ए किराम के सामने अपनी ऊटहनी पर सवार होकर खुतबा पढ़ रहे थे।

ए लोगों मैंने तुम में वो चीज़ छोड़ी है कि जब तक तुम उनको थामे रहोगे गुमराह ना होगे अल्लाह की किताब और मेरी इत्रत यानी अहले बैत।

📚 जामे तिरमिज़ी बाब – 06/ किताबुल मनाकिब, हदीस – 3786 / अरेबिक – 4155

📚इमाम तबरानी अल मुजम उल औसत बाबा 05, सफा 89, हदीस – 4757

📚इमाम तबरानी अल मुजम उल कबीर बाब – 03, सफा 66, हदीस – 2680

📚इब्ने कसीर तफसीर इब्ने कसीर बाब – 04, सफा – 114

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s