हुजुर (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलदत के कुछ फजीलते ..

•सुरज को अजीम नुर पहनाया गया ..

♥जब हुजुरअकदस (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत हुई, उस रोज सुरज को अजीम नुर पहनाया गया..
📚(अस्कलानी, जिल्द-1, सफा-124,)

📚(जुरकानी, जिल्द-1, सफा-20,)

☆अल्लाह तआला ने आसमान पर मिनारमुस्तफा! बनाया ..

♥जिस रात आका (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत हुई, उस रात अल्लाह तआला ने आसमान पर मिनारमुस्तफा! बनाया.,

📚(खसाइसुल कुबरा,)

☆काबा शरिफ ने हजरत आमिना! के मकान के तरफ सजदा किया ..

♥नबीकरिम (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत पर काबा शरिफ ने हजरत आमिना! के मकान के तरफ सज्दा किया,..

📚(मदारिज्जुन नबुव्व:)

☆शैतान मरदुद रंजो गम मे भागता फिरता था,..

♥नबीकरिम (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत के वक्त शैतान मरदुद रंजो गम मे भागता फिरता है,..

📚(मदारिज्जुन नबुव्व:)

•पीर के दिन उसको अजाब नही होता,…

♥अबु लहब ने आका (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत के दिन खुशी से लौंडी (गुलाम) को अजाद कर दिया, इसकी वजह से पीर के दिन उनको अजाब नही होती,..

📚(बुखारी, जिल्द-2, सफा-764,

☆मिलादउननबी के दिन हर साल जियारत करते,..

♥मक्का शरिफ के लोग नबीपाक (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की पैदाईश की जगह मिलादउननबी के दिन हर साल जियारत करते और महफिले मुनक्कीद करते,..

📚(जवाहीर अल बिहार, सफा-1222,)

☆विलादत के वक्त असमान से चार (4) औरतें आई,..

♥आका (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत के वक्त असमान से चार औरतें आई,
1)👉हजरत हव्वा,
2)👉हजरत सारा,
3)👉हजरत हाजरा,
4)👉हजरत आसिया,
(रजी अल्लाहु तआला अन्हुमा)

📚(तफसीरे आलम नशरह, सफा-95,)

☆विलादत का दीन,..

♥नबीपाक (सलल्लल्लाहु तआला अलैही वसल्लम) की विलादत,
12 रबीउलअव्वल,
पीर का दिन,
सुबह सादीक के वक्त,
4:45 Am बजे,
571, हिजरी,
मक्का शरिफ मे विलादत हुई,
📚(मदारिज्जुन नबुव्व: जिल्द-2, सफा-14,)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s