Hadith on Bugzh e AhleBayt


بسم الله الرحمن الرحيم
الصــلوة والسلام عليك يارسول الله ﷺ

हज़रते हसन बिन अली رضي الله تعالي عنه का फरमाने इबरत निशान है :
हम से बुग्ज़ मत रखना की रसूले पाक ﷺ ने इरशाद फ़रमाया : जो शख्स हमसे बुग्ज़ या हसद करेगा उसे क़यामत के दिन हौज़े कौषर से आग के चाबुको के ज़रिए दूर किया जाएगा।
✍अल मजम अल वुसत 2/33

अहले बैत का दुश्मन दोज़खी है
एक तवील हदिशे पाक में ये भी है की अगर कोई शख्स बैतुल्लाह शरीफ के एक कोने और मक़ामे इब्राहिम के दरमियान जाए और नमाज़ पढ़े और रोज़े रखे और फिर वो अहले बैत की दुश्मनी पर मर जाए तो वो जहन्नम में जाएगा।
✍अलमुस्तदरक, किताब मारेफ़त अलसाहबह 4/129
✍बुग्ज़ व किना 24

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s