जानवरों का बयान

————————﷽———————-*जानवरों का बयान*
❉━━✠✥✠━━❆❆━━✥✠✥━━❉

*🌹👉 सवाल-* हुज़ूरे अनवर सल्ललाहो तआला अलैह वसल्लम ने कितने जानवरों को मारने की ताकीद फरमाई है?
जवाब- छः किस्म के जानवरों को मारने की ताकीद फरमाई है
👉🏻 (1) काटखाने वाला कुत्ता
👉🏾 (2) चूहा
👉🏾 (3) बिच्छू
👉🏻 (4) चील
👉🏾 (5) कव्वा
👉🏾 (6)सांप।
📕 (फ़तावा रिज़विया जिल्द 10 निस्फ अव्वल सफ़्हा 100)

*🌹👉 सवाल-* क्या जानवरों में भी फ़ासिक होते है?
*🌸👉🏻 जवाब-* हाँ हदीस शरीफ में कुछ जानवरों को फ़ासिक कहा गया है जैसे कव्वा,चील,चूहा,बिच्छू,कटखना कुत्ता छिपकली वगैरह।
📕 (मुस्लिम शरीफ़ जिल्द 1 सफ़्हा 318)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा परिन्दा है जिसकी उम्र एक हज़ार साल तक होती है?
*🌸👉🏻 जवाब-* गिध्द।
📕 (हयातुल हैवान जिल्द 2 सफ़्हा 349)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा जानवर है जो आगे-नमरूद को *(जिस में हज़रत इब्राहिम अलैहिस्सलाम डाले गये थे)* अपने मुँह में पानी लेकर बुझा रहा था?
*🌸👉🏻 जवाब-* मेंढक।
📕 (हयातुल हैवान जिल्द 2 सफ़्हा 86)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा परिन्दा है जो आतिशे नमरूद में अपनी चौंच से पानी का कतरा डाल रहा था ताकि आग बुझ जाऐ और अल्लाह के खलील को नुक़सान न पहुँचे?
*🌸👉🏻 जवाब-* हूद हूद।
📕 (हयातुल हैवान जिल्द 2 सफ़्हा 86)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा परिन्दा है जो ज़मीन के अन्दर का पानी ऊपर से देखकर बता देता है कि यहाँ पानी इतने फिट पर निकलेगा?
*🌸👉🏻 जवाब*- हूद हूद।
📕 (कुरान-ए-मुकद्दस सूरऐ नमल)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा परिन्दा है जो हज़रत सुलैमान अलैहिस्सलाम के पास ख़बर लाया था कि यमन की हुकमराँ एक औरत है?
*🌸👉🏻 जवाब-* हूद-हूद।
(कुरान-ए-मुकद्दस सूरऐ नमल)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा जानवर है जो आतिशे नमरूद में फूँक मार रहा था ताकि अल्लाह के खलील के लिए आग भड़क उठे और आपको तकलीफ़ पहुँचे?
*🌸👉🏻 जवाब-* वह जानवर गिरगिट या छिपकली है।
📕 (ख़ाज़िन जिल्द 4 सफ़्हा 244)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा परिन्दा है जो आदमी को नमाज़ के लिये बेदार करता है और अल्लाह के रसूल ने उसे बुरा कहने से मना फ़रमाया?
*🌸👉🏻 जवाब-* वह परिन्दा मुर्गा है।
📕 (मिश्कात शरीफ जिल्द 2 सफ़्हा 361)

*🌹👉 सवाल-* वह कौनसा जानवर है जो कभी पानी नहीं पीता?
*🌸👉🏻 जवाब-* शुतर मुर्ग और गोह।
📕 (हयातुल हैवान जिल्द 2 सफ़्हा 357)

*🌹👉 सवाल-* कौनसा परिन्दा अल्लाह का लश्कर है?
*🌸👉🏻 जवाब-* टिड्डी अल्लाह का लश्कर है उसके सीने पर यह इबारत लिखी हुई है ” *नहनु जुन्दल्लाहिल आज़म” (हम अल्लाह का अज़ीम लश्कर हैं)*।
📕 (हयातुल हैवान जिल्द 1 सफ़्हा 234)

*🌹👉 सवाल-* क्या जन्नत में जानवर भी दाखिल होंगे?
*🌸👉🏻 जवाब-* हाँ जन्नत में दस जानवर दाख़िल होंगे।
👉🏾 (1) हुजूरे अनवर सल्ललाहो तआला अलैह वसल्लम का बुराक,
👉🏾 (2) हज़रत सालेह अलैहिस्सलाम की ऊँटनी,
👉🏾 (3) हज़रत इब्राहिम अलैहिस्सलाम का बछड़ा,
👉🏻 (4) हज़रत इस्माईल अलैहिस्सलाम का मेंढा,
👉🏻 (5) हज़रत मूसा अलैहिस्सलाम की गाय,
👉 (6) हज़रत यूनुस अलैहिस्सलाम की मछली,
👉🏾 (7) हज़रत उज़ैर अलैहिस्सलाम का खच्चर,
👉🏾 (8) हज़रत सुलैमान अलैहिस्सलाम की चीटी,
👉 (9) बिलक़ीस का हूद-हूद,
👉 (10) असहाबेकहफ़ का कुत्ता।
📕 (अलइशबार वन्नज़ाइर व हमवी शरह इश्बार सफ़्हा 583)

*🌹👉 सवाल-* क्या इन जानवरों के इलावा भी कुछ जानवर जन्नत में दाख़िल होंगे?
*🌸👉🏻 जवाब-* हाँ जैसे मोर,घोड़ा,और वह जानवर जो देखने में खूबसूरत है या वह परिन्दा जिसकी आवाज़ सुरीली और अच्छी है या वह जानवर जिनका गोश्त जन्नतियों को पसन्द होगा पहले जन्नत की गिजा के वास्ते जन्नत में जाऐंगे।
📕 (तफ़सीर अज़ीज़ी पारा 30 सफ़्हा 63)

*🌹👉🏾 सवाल-* क्या कुछ जानवर जहन्नम में भी जाऐंगे?
*🌸👉🏻 जवाब-* हाँ वह जानवर जो मर्ज हैं जैसे साँप,बिच्छू,वगैरा जहन्नम में काफिरों को अज़ाब देने के लिये जाऐंगे उनको खुद कोई तकलीफ न होगी जिस तरह अज़ाब के फ़रिश्तों को कोई तकलीफ नहीं होती।
📕 (तफ़सीर अज़ीज़ी पारा 30 सफ़्हा 63/अलमलफूज जिल्द 4 सफ़्हा 80)

*🌹👉 सवाल-* बाकी जानवर कहाँ जाऐंगे?
*🌸👉🏼 जवाब-* मिट्टी कर दिये जाएंगे उनको मिट्टी होता देखकर काफिर कहेंगे काश हम भी उन्हीं की तरह मिट्टी हो जाते।
📕 (अलमलफूज जिल्द 4 सफ़्हा 80)

______________________________________
*📖 हदीसे पाक में है कि इल्म फैलाने वाले के बराबर कोई आदमी सदक़ा नहीं कर सकता।*
📕 (क़ुर्बे मुस्तफा,सफह: 100)
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
*सवाब की नीयत से पोस्ट शेयर करें*
*दुआओं 🤲🏻 में याद रखियेगा*
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s