अरब देश माॅरीतानिया का इतिहास जानिए

अरब देश माॅरीतानिया का इतिहास जानिए

मॉरीतानिया
==========
الجمهورية الإسلامية الموريتانية
अल-जम्हूरिया अल-इस्लामिया अल-मॉरीतानिया
इस्लामी गणराज्य मॉरीतानिया

राष्ट्रगान: नशीद वतनिया मॉरीतानिया

राजधानी और सबसे बडा़ नगर – नुआकशोत
38°33′N 68°48′E
राजभाषा(एँ) – अरबी, पुलार, सोनिन्के, वोलोफ़
सदस्यता {{{membership}}}
क्षेत्रफल
– कुल १०,३०,००० वर्ग किलोमीटर
३,९७,६८५ वर्ग मील
जनसंख्या
– २०१५ जनगणना ४०,६७,५६४

मॉरीतानिया (Mauritania) उत्तर अफ़्रीका के पश्चिमी भाग में स्थित एक देश है, जो मग़रेब क्षेत्र का हिस्सा माना जाता है। यह एक भूतपूर्व फ़्रांसीसी उपनिवेश हुआ करता था। मॉरीतानिया का लगभग ९०% क्षेत्रफल सहारा रेगिस्तान का भाग है और इस कारणवश इस देश की अधिकतर आबादी देश के दक्षिणी भाग में बसी हुई है जहाँ थोड़ी-बहुत वर्षा होती है। सन् २०१३ में देश की ३५ लाख की कुल जनसंख्या में से १० लाख लोग मॉरीतानिया की राजधानी और सबसे बड़े शहर नुआकशोत (Nouakchott) में रहते थे।

 

नवाक्शूत
==============
नुआकशोत
Nouakchott / نواكشوط‎

मॉरीतानिया में स्थिति
सूचना
प्रांत व देश : मॉरीतानिया
जनसंख्या (२०१३) : ९,५८,३९९
मुख्य भाषा(एँ) : अरबी
निर्देशांक: 18°6′N 15°57′W

नुआकशोत या नवाक्शूत (फ़्रांसीसी: Nouakchott, अरबी: نواكشوط‎) पश्चिमी अफ़्रीका के मॉरीतानिया देश की राजधानी व सबसे बड़ा शहर है। सन् २०१३ में मॉरीतानिया की ३५ लाख की कुल जनसंख्या में से १० लाख लोग नुआकशोत में बसे हुए थे। यह अटलांटिक महासागर के किनारे देश के दक्षिणी भाग में स्थित है और सहारा रेगिस्तान के सबसे बड़े शहरों में से एक गिना जाता है। १९५८ तक यह एक छोटा सा गाँव था। उस वर्ष यह मॉरीतानिया की राजधानी चुना गया और यहा १५,००० लोगों के बसने की व्यवस्था की गई। १९७० के बाद मॉरीतानिया के कई इलाकों में सूखा पड़ता रहा है और उन क्षेत्रों से विस्थापित लोग अक्सर नुआकशोत आ जाते हैं जिस से यहाँ भीड़ और धरों की कमी दोनों बढ़ी हैं। यह एक महत्वपूर्ण बंदरगाह है और नुआकशोत विश्वविद्यालय भी यहीं स्थित है।

नामोत्पत्ति
नुआकशोत बर्बर भाषाओं के ‘नवाकशूत’ शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ है ‘हवाओं वाली जगह’


Mauritanie

Scale: 1:4,400,000 (precision: 1,100 m)
Equirectangular projection, WGS84 datum
Central meridian: 010° 57′ W
Standard parallel: 21° N
Geographic limits of the map:
Top: 27° 51′ N
Bottom: 14° 09′ N
Left: 017° 45′ W
Right: 004° 09′ W

============

मॉरीतानिया में अनोखा निकाह, मेहर के बदले दरूद शरीफ़ पढ़ने को कहा

इस्लामी शरीयत और फ़िक़्ही नियमानुसार हक़-ए-मेहर चीज़ ही की शकल में अदा किया जाता है मगर अफ़्रीकी देश मॉरीतानिया में इन दिनों एक अनोखे मेहर की चर्चा है जिस की गूँज सात समुद्र पार से सुनाई दे रही है।

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार मॉरीतानिया के एक नागरिक ने अपनी बेटी के अकद निकाह के बदले पैसा, सोना, चांदी, भूमि या संपत्ति नहीं मांगी बल्कि दूल्हे से नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम पर एक लाख दरूद शरीफ भेजने की मांग की। दूल्हे ने यह अनोखा हक़-ए- मेहर अदा कर दिया जबकि दूल्हे के पिता का कहना है कि हक़-एमेहर (एक मिलियन दरूद पाक पढ़ने को) निकाह फार्म में दर्ज किया जाए।


गौरतलब है कि दूल्हा एक उच्च शिक्षित युवा है लेकिन उच्च शिक्षा होने के बावजूद वह बेरोजगार है। इस पर होने वाले ससुर ने उससे चीज़ के रूप में सही मेहर प्राप्त करने के बजाय दस लाख दरूद पाक पढ़ने की मांग की। दस लाख दरूद पाक पढ़ने के बदले में पिता अपनी बेटी के मेहर से दस्तबरदार हो गया।


यह घटना मॉरीतानिया के स्थान नवाकशो्त की अलतरहील कॉलोनी में हाल ही में हुई। मेहर में ‘दरूद शरीफ़’ की खबर ने सोशल मीडिया पर एक तूफान मचा दिया है। लोग बढ़चढ़ कर इस घटना पर अपनी खुद की शैली और विचारों के अनुसार टिप्पणियां कर रहे हैं। जहां इस कदम की प्रशंसा की गई है वहीं उसके विरोधियों की भी कोई कमी नहीं है। विरोध करने वाले सज्जन उसे इस्लाम में ‘बिदअत’ करार दे रहे हैं कि सामाजिक स्तर पर इस का समर्थन करने वालों का कहना है कि यह कदम शादी की बाधाओं को दूर करने में मददगार हो सकता है। क्योंकि कई युवा आर्थिक रूप पर सक्षम न होने के कारण समय पर शादी नहीं कर पाते और उनकी शादी की उम्र बीत जाती है। सामाजिक कार्यकर्ताओं ने निकाह और मेहर के इस अद्वितीय दृष्टिकोण को अपनाने का भी मांग की है।

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s